MLA Full Form-MLA का फुल फॉर्म क्या है

MLA क्या होता है क्या आप भी जानना चाहते है MLA full form क्या होता

 

MLA Full Form-MLA का फुल फॉर्म क्या है

 

दोस्तों अज हम बात करने वाले  MLA full form क्या होता और MLA बनने के लिए क्या योग्त्य होनी चाइए  दोस्तों  भारत में संघात्मक शासन प्रणाली लागू है जिसके अंतर्गत भारत में केंद्र और राज्य दो प्रकार की सरकार होती हैं केंद्र सरकार में प्रधानमंत्री चुना जाता है और राज्य सरकार में मुख्यमंत्री चुना जाता है  MLA full  form

 

क्योंकि भारत बहुत बड़ा देश है इसीलिए संघात्मक शासन का प्रयोग करते हुए पूरे भारत को 28 राज्य में बांटा गया है इससे पहले 29 राज्य थे लेकिन जम्मू और कश्मीर के केंद्र शासित प्रदेश में परिवर्तित होने के बाद भारत में 28 राज्य शेष बचे हैं

 

MLA full form  (Member of Legislative Assembly) होता है 

 

यहां पर एक केंद्र सरकार होती है जिसका पूरे देश पर नियंत्रण होता है वही देश को छोटे-छोटे खंडों में विभाजित किया गया है जिन्हें हम प्रांतीय राज्य कहते हैं उन राज्यों में राज्य सरकारें होती हैं यदि हम किसी भी राज्य को ले तो प्रत्येक राज्य में एक विधानसभा होती है

 

और पूरे राज्य भर से उस विधानसभा के लिए सदस्य चुनकर आते हैं प्रत्येक राज्य में विधानसभा में कितने सदस्य होंगे इस बात पर निर्भर करता है कि उस राज्य की जनसंख्या कितनी है उदाहरण के तौर पर  यदि हम उत्तर प्रदेश को ले  तो क्योंकि उत्तर प्रदेश में जनसंख्या बहुत अधिक है इसलिए वहां पर विधान सभा के सदस्यों की संख्या 403 है

 

SSC full form | SSC क्या है पूरी जानकारी | CGL full form

upsc full form | UPSC का फुल फॉर्म क्या है

SDM full form | एसडीएम क्या है, कैसे बने

PNR Full Form | PNR फुल फार्म क्या होता है

 

तो दोस्तों विधानसभा के इन्हीं सदस्यों को एमएलए कहा जाता है एमएलए की फुल फॉर्म होती है मेंबर ऑफ लेजिसलेटिव असेंबली और विधानसभा को अंग्रेजी में लेजिसलेटिव असेंबली कहा जाता है

 

इस प्रकार विधानसभा का सदस्य एमएलए कहलाता है विधानसभा राज्य के लिए राज्य स्तर पर कानून बनाती है वहीं यदि देश स्तर पर कोई कानून बनाना हो तो वह काम केंद्र सरकार द्वारा किया जाता है तो दोस्तों इस प्रकार भारत के सभी राज्य में स्थापित विधानसभा के सदस्यों को हम एमएलए कहते हैं

 

 और एमएलए ही बहुमत के साथ किसी भी राज्य के मुख्यमंत्री का चुनाव करते हैं तो दोस्तों इस प्रकार भारत के सभी राज्यों की विधानसभा के सदस्यों को एमएलए कहा जाता है 

 

MLA एक निर्वाचन छेत्र के मतदातओं द्वारा भारत में राज्य सरकार की विधायीका के लिए चुना गया पर्तिनिधि होता है विधान सभा के सदस्य (MLA) लोगो द्वारा चुने जाते है और इसके लिए प्रतेक पांच साल पर चुनाव होता है

MLA FULL FORM IN HINDI

जिसे हम हिन्दी में कह सकते है की बिधानसभा का सद्य्स होता है

 

MLA विधायक की योग्यता मापदंड

1 उम्मीदवार को भारती नागरिक होना अनिवार्य है

2 उसे कम से कम 25 वर्षकी आयु होनी होगी

3 वह किसी भी निर्वाचन छेत्र का मतदाता जरुर होना चाहिए

4 चुनाव लड़ने वाले व्यक्ति को भारत सरकार के अंतर्गत किसी भी लाभ पद पर आसीन नहीं होना चाइए

5 चुनाव लड़ने वाले व्यक्ति का मानसिक रूप से सवास्ध होना आवश्यक है

6 लोकपर्तिनिधित्व अधिनियम 1951 के अनुसार यदि विधायक दोषी पाया जाता है तो हटाया जा सकता है

 

एक (MLA) की जिम्मेदारियाँ क्या क्या होती है

1 एक विधायक लोगो की सिकायतो का पर्तिनीधित्व करता है उन्हें राज्य सरकार के पास ले जाता है is लिए वह सीधे जनता से जुडा होता है

2 उसे अपने निर्वाचन छेत्र के सदस्यों के लाभ के लिए कई विधायी साधनों का उपयोग करना होता है

3 उसे अपने निर्वाचन छेत्र के अस्धानी मुद्दों को राज्य सरकार के सामने उठाना चाइए ताकि उन समस्याओ का हल मिल जुल कर निकला जा सके

4 उसे अपने निर्वाचन छेत्र को विकसित करने के के लिए अस्धानी छेत्र विकाश (LAD) फंड का सही से उपयोग करना चाहियें और अपने निर्वाचन छेत्र का विकाश करना चाइए

MLA की कार्यवधि

विधान सभा का कार्यकाल पुरे 5 वर्ष का होता है हालाँकि यह मुख्मंत्री के अनुरोध पर राजपाल द्वारा उससे पहले भी भंग किया जा सकता है आपातकाल के दौरान विधानसभा का कार्यकाल बढाया भी जा सकता है लेकिन एक बार में 6 महीने से अधिक नहीं

 

 

उम्मीद है आपको इस शब्द का अर्थ समझ आ गया

 

Leave a Comment